search

Published 30-08-2022

पुरुष यौन स्वास्थ्य के लिए एक आयुर्वेदिक दिनचार्य ।

MALE SEXUAL HEALTH, SEXUAL WELLNESS, SEXUAL WEAKNESS

पुरुष यौन स्वास्थ्य के लिए एक आयुर्वेदिक दिनचार्य ।

Dr. Shivani Nautiyal

An Ayurvedic Practitioner and Consultant with a specialization in Panchkarma. My goal is to design an individual treatment plan to help each patient to achieve the best outcome possible. Treats Male and Female Fertility problems, Irregular Menstruation, Leucorrhea, UTI, COPD, Diabetes, Hypertension, Insomnia, Joint Pain, Arthritis, Sciatica, Skin problems, Alopecia, Grey Hairs, Gastric problems and other Lifestyle Disorders with Panchkarma Therapies and Ayurvedic Medicines.

आयुर्वेद के अनुसार, यौन क्रिया या ब्रह्मचर्य स्वस्थ जीवन के तीन सहायक स्तंभों या उपस्तंभ में से एक है। आयुर्वेद इस बात की वकालत करता है कि एक स्वस्थ और वांछनीय (desirable) यौन गतिविधि शरीर में यौवन, बढ़ी हुई याददाश्त, शक्ति और हार्मोनल संतुलन को बढ़ावा दे सकती है। हालांकि आयुर्वेद के अनुसार यौन क्रिया को हमेशा संतुलित और नियंत्रित रखना चाहिए। आयुर्वेद कई नियमों, सिफारिशों और युक्तियों का उल्लेख करता है जो यौन गतिविधि को संतुलित करने और लोगों में यौन स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद करते हैं।

  बेहतर यौन स्वास्थ्य के लिए आयुर्वेदिक टिप्स ।

 1- दोषों के आधार पर यौन गतिविधि में शामिल हों  (Indulge in sexual activity based on defects ) 

यौन गतिविधि से वात बढ़ जाता है, जिससे आपके ओजस में और कमी आ सकती है। इसलिए, यह अनुशंसा की जाती है कि यदि आप मुख्य रूप से वात शरीर के प्रकार हैं, तो आपको बार-बार संभोग नहीं करना चाहिए। हालाँकि, यदि आप कफ शरीर के समय हैं, तो आप अपने ओजस को कम किए बिना अक्सर यौन गतिविधियों में शामिल हो सकते हैं। जहां तक पित्त शरीर के प्रकार के लोगों का संबंध है, वे मध्यम आवृत्ति पर संभोग कर सकते हैं।

2- ऋतुओं के अनुसार यौन क्रिया में लिप्त - (Indulging in sexual activity according to the seasons) 

आयुर्वेद में उल्लेख है कि यौन क्रिया की आवृत्ति काफी हद तक मौसमों पर निर्भर होनी चाहिए क्योंकि प्रत्येक मौसम एक विशिष्ट दोष को बढ़ावा देता है। आयुर्वेदिक ग्रंथों में कहा गया है कि लोगों को ताकत बढ़ाने वाली जड़ी-बूटियों और कामोत्तेजक जड़ी-बूटियों का सेवन करने के बाद सर्दियों के दौरान जितना चाहें उतना यौन क्रिया में शामिल होना चाहिए। यह एक आदर्श समय है क्योंकि कफ दोष प्रमुख है। बसंत और पतझड़ के मौसम में तीन दिनों में एक बार यौन क्रिया में लिप्त हो सकते हैं। हालांकि, गर्मी और बरसात के मौसम में लोगों को 15 दिनों में केवल एक बार यौन क्रिया में शामिल होना चाहिए क्योंकि वात पहले से ही प्रबल है।

3- ओज (Immunity) के नुकसान पर काबू पाएं -  (Overcome the Loss of Immunity) 

ओजस शरीर की महत्वपूर्ण ऊर्जा शक्ति है और यौन गतिविधि आपके ओजस को समाप्त कर देती है। इसलिए, संभोग करने के बाद ओजस के नुकसान से उबरना महत्वपूर्ण है। अपनी ऊर्जा वापस लाने के कुछ तरीके हैं:

a- संभोग के बाद स्नान करें

b- गुड़, दूध आदि से बनी प्राकृतिक मिठाइयां खाएं।

c- ठंडी हवा में आराम करें

d- गहरी नींद लें

4- यौन क्रिया से पहले तेल मालिश करे -  (Massage oil before sexual activity) 

अभ्यंग या मालिश आपके शरीर में ओजस बनाने में काफी मदद कर सकता है। एक दूसरे के शरीर या पैरों की मालिश करने से भी आपके साथी के साथ बेहतर जुड़ाव में मदद मिलती है। इसलिए, यौन क्रिया में शामिल होने से पहले तेल मालिश करने की सलाह दी जाती है।

5- अपने साथी से जुड़ें -  (Connect with your partner) 

आयुर्वेद संबंध बनाने और अपने साथी पर भरोसा करने पर बहुत जोर देता है। स्वस्थ यौन जीवन का होना बहुत जरूरी है। भावनाओं को व्यक्त करके और जागरूकता के साथ वांछित तरीके से प्यार करके, आप अपने ओजस का बेहतर उपयोग कर सकते हैं।

6- यौन स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाले खाद्य पदार्थ खाएं - (Eat foods that promote sexual health) 

 कुछ खाद्य पदार्थ यौन शक्ति में सुधार के लिए अत्यधिक फायदेमंद होते हैं, जैसे कि साबुत अनाज, दालें, गेहूं, सब्जियां, लहसुन, फल, द्राक्ष, सेंधा नमक, डेयरी उत्पाद, तेल आदि।

 निष्कर्ष -  

आयुर्वेद में यौन क्रिया का अत्यधिक महत्व है। यह लोगों को कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान कर सकता है। हालांकि, आयुर्वेद इस बात की वकालत करता है कि व्यक्ति को हमेशा नियंत्रित और संतुलित तरीके से यौन गतिविधियों में शामिल होना चाहिए। मुख्य नियमों में से एक है ऋतुओं और दोषों के आधार पर यौन क्रिया करना। आयुर्वेद में कई खाद्य पदार्थों और जड़ी-बूटियों का भी उल्लेख है जो लोगों के यौन स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं। यौन जीवन की आयुर्वेदिक अवधारणा का पालन करने से यौन स्वास्थ्य को बढ़ावा देने और स्वस्थ जीवन जीने में काफी मदद मिल सकती है। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए आप हमारे हेअल्थीबाज़ार Healthybazar की साइट पे visit कर के डॉक्टर्स से जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Last Updated: Aug 30, 2022

Related Articles

Sexual Weakness , Sexual Wellness

यौन संचारित संक्रमण को कैसे ठीक किया जा सकता है?

Sexual Weakness , Male Sexual Health , Sexual Wellness

शीघ्रपतन का इलाज क्या है?

Related Products

Hamdard

Kamini Vidravan Ras

0 star
(0)

Hamdard Kamini Vidrawan Ras treats erectile dysfunction and premature ejaculation.

 

Prescription required, call 9119008008 for FREE consultation

₹ 799

Tikaram Naturals

Amla Murabba

0 star
(0)

Amla Murabba is a premium quality traditional Indian sweet with rich Vitamin A & C

₹ 180

Tikaram Naturals

Gulkand Murabba

0 star
(0)

Gulkand Murabba is a handmade and premium quality product.

₹ 390