search

Published 28-09-2022

प्रेग्नेंसी में दही खाने के फायदे ।

PREGNANCY CARE

 प्रेग्नेंसी में दही खाने के फायदे ।

Dr. Shivani Nautiyal

An Ayurvedic Practitioner and Consultant with a specialization in Panchkarma. My goal is to design an individual treatment plan to help each patient to achieve the best outcome possible. Treats Male and Female Fertility problems, Irregular Menstruation, Leucorrhea, UTI, COPD, Diabetes, Hypertension, Insomnia, Joint Pain, Arthritis, Sciatica, Skin problems, Alopecia, Grey Hairs, Gastric problems and other Lifestyle Disorders with Panchkarma Therapies and Ayurvedic Medicines.

क्या आपको दही खाना पसंद है? यदि आप का उत्तर हाँ है, तो आप एक अच्छा स्वस्थ आहार ले रहे है, प्रेगनेंसी में कौन सी सब्जी नहीं खानी चाहिए कौन से भोजन या खाने से दूर रहना चाहिए, क्या खाना माँ की सेहत और बच्चे दोनो के लिए अच्छा है, ये सब जानकारी रखना जरूरी है। गर्भवती महिला के लिए दही के लाभों को इसके उपयोगी पोषक तत्वों जैसे विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन बी, फोलेट, फास्फोरस, पोटेशियम, सोडियम, जिंक, मैंगनीज आदि से देखा जा सकता है।

गर्भावस्था के दौरान दही के 15 आश्चर्यजनक लाभ हैं -

1- दही गर्भवती महिलाओं में कुपोषण (malnutrition) को रोकता है।

गर्भवती महिलाओं को अपने शरीर और अपने भ्रूण के लिए उच्च पोषण की आवश्यकता होती है। दही में मौजूद सभी पोषक तत्व पाचन तंत्र में आसानी से अवशोषित हो जाते हैं। इसके अलावा, दही अन्य खाद्य पोषक तत्वों को अवशोषित करने में भी मदद करता है ताकि शरीर भोजन से पोषण का बेहतर उपयोग कर सके। गर्भावस्था के दौरान दही के ये अद्भुत फायदे गर्भवती महिलाओं में कुपोषण की स्थिति को रोकेंगे।

2- गर्भावस्था के दौरान दही शरीर की गर्मी को ठंडा कर सकता है।

गर्भवती महिलाओं के शरीर में मेटाबॉलिज्म के कारण उनके शरीर में गर्मी अधिक होती है। यदि शरीर की गर्मी बहुत अधिक है, तो यह भ्रूण के विकास के लिए अच्छा नहीं है और माँ के लिए निर्जलीकरण का कारण बन सकता है। इस समस्या को दूर करने के लिए दही गर्भवती महिलाओं के शरीर की गर्मी को शांत कर सकती है। यह गर्भावस्था के दौरान बच्चे के लिए उपयुक्त वातावरण का तापमान बनाने के लिए दही के सर्वोत्तम लाभों में से एक है।

3- दही गर्भावस्था के दौरान नाराज़गी को रोकने में मदद करता है।

 गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिलाओं के पेट में संवेदनशील स्थिति होती है। मसालेदार भोजन का सेवन करते समय वे अक्सर नाराज़गी का अनुभव करते हैं। मसालेदार भोजन के साथ मिलाने के लिए दही सबसे अच्छा विकल्प है। गर्भावस्था के दौरान मसालेदार भोजन में पदार्थ को बेअसर करने के लिए दही के अन्य लाभ बन जाते हैं ताकि नाराज़गी की स्थिति को रोका जा सके।

4- उन गर्भवती महिलाओं के लिए दही अच्छा है जो लैक्टोज असहिष्णु हैं।

कुछ गर्भवती महिलाएं लैक्टोज असहिष्णु होती हैं इसलिए वे दूध का सेवन नहीं कर सकती हैं। इस समस्या का सामना करने के लिए, दही का सेवन करने का सबसे अच्छा विकल्प है क्योंकि यह दूध में लैक्टोज को लैक्टिक एसिड में बदल सकता है, जो आसानी से पचने वाला पदार्थ है।

5- दही गर्भावधि उच्च रक्तचाप को रोकने में मदद करता है।

रक्तचाप को सामान्य स्तर पर बनाए रखना गर्भावस्था के दौरान दही के लाभों में से एक है। दही में पोटेशियम होता है, एक खनिज जो हृदय की मांसपेशियों सहित शरीर में मांसपेशियों के संकुचन को नियंत्रित करता है। पोटेशियम का अच्छा स्तर होने से हृदय अपनी लय में रक्त को प्रभावी ढंग से पंप कर सकता है जिससे रक्तचाप को सामान्य स्तर पर बनाए रखा जा सकता है।

6- दही गर्भवती महिलाओं में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है।

दही में विटामिन सी होता है जो प्रतिरक्षा प्रणाली में भूमिका निभाता है। उच्च विटामिन सी गर्भावस्था के दौरान प्रतिरक्षा को बढ़ा सकता है इसलिए किसी भी संक्रमण को रोका जा सकता है। यह गर्भावस्था के दौरान दही के महत्वपूर्ण लाभ बन जाते हैं।

7- दही गर्भवती महिलाओं के पाचन तंत्र की रक्षा करता है।

दही में प्रोबायोटिक के रूप में अच्छे बैक्टीरिया होते हैं जो गर्भावस्था के दौरान पाचन तंत्र की रक्षा करते हैं। यह प्रोबायोटिक आंतों में कई सूक्ष्मजीवों से लड़ता है जो दस्त ला सकते हैं।

8- दही भ्रूण की हड्डी और दांतों के विकास में मदद करता है।

भ्रूण की वृद्धि और विकास को अधिकतम करना गर्भावस्था के दौरान दही का सबसे बड़ा लाभ बन जाता है। दही में कैल्शियम, फास्फोरस और विटामिन डी की उच्च मात्रा होती है जो भ्रूण की हड्डियों और दांतों के निर्माण में बहुत उपयोगी होते हैं।

9- दही का उपयोग प्राकृतिक त्वचा देखभाल उत्पाद के रूप में किया जा सकता है जो गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित है।

यह गर्भावस्था के दौरान दही के सबसे अच्छे लाभों में से एक है जिसे आपको जानना चाहिए। दही में जिंक, विटामिन ई और फॉस्फोरस जैसे पोषक तत्व होते हैं जो आपकी त्वचा को सुरक्षित तरीके से चमकदार और स्वस्थ बनाते हैं। आप दही, मैदा और नीबू के रस को मिलाकर त्वचा की देखभाल के घरेलू नुस्खे अपना सकते हैं और इसे अपनी त्वचा पर लगा सकते हैं।

10- दही गर्भावस्था के दौरान तनाव और चिंता को दूर कर सकता है।

कुछ गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान तनाव और चिंता आसानी से हो जाती है। दही अपने कैल्शियम से तनाव और चिंता को दूर करने में मदद करता है जो शरीर में जारी कोर्टिसोल (तनाव हार्मोन) को रोक सकता है।

11- दही गर्भावस्था के दौरान रंजकता और शुष्क त्वचा को रोकने में मदद करता है।

गर्भावस्था के दौरान हार्मोनल असंतुलन के कारण पिगमेंटेशन और रूखी त्वचा आम समस्याएं हैं। गर्भावस्था के दौरान दही के फायदे उन समस्याओं को होने से रोक रहे हैं और त्वचा को स्वस्थ रखते हैं क्योंकि यह विटामिन ई से भरपूर होता है।

12- दही भ्रूण के मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र के विकास में मदद करता है।

गर्भावस्था के दौरान दही के महान लाभों में से एक भ्रूण के मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र के विकास में मदद करना है। दही विटामिन बी (विटामिन बी5, विटामिन बी6, विटामिन बी12) और फोलेट से भरपूर होता है जो भ्रूण के मस्तिष्क के विकास के लिए आवश्यक है।

13- दही गर्भावस्था के दौरान एनीमिया को रोकने में मदद करता है।

गर्भावस्था के दौरान एनीमिया को रोकने के लिए दही एक स्वस्थ आयरन युक्त आहार प्रदान करता है। इसके अलावा, दही शरीर में आयरन के अवशोषण में मदद करने के लिए विटामिन सी से भी भरपूर होता है।

14- दही मां और बच्चे दोनों की दृष्टि की रक्षा करने में मदद करता है।

गर्भावस्था के दौरान दही के अन्य लाभ इसके विटामिन ए से आते हैं जो स्वस्थ आंखों को बनाए रखने और मां और बच्चे दोनों के लिए एक अच्छी दृष्टि बनाने के लिए महत्वपूर्ण है।

15- दही गर्भावस्था के दौरान प्रीक्लेम्पसिया को रोकता है।

प्रीक्लेम्पसिया एक उच्च रक्तचाप की स्थिति है जो गर्भावस्था में पाई जा सकती है जिससे दौरे पड़ सकते हैं। गर्भवती महिलाओं में प्रीक्लेम्पसिया को रोकने के लिए दही में मैग्नीशियम एक बेहतरीन प्राकृतिक उपचार के रूप में होता है।

निष्कर्ष 

गर्भावस्था के दौरान दही के 15 आश्चर्यजनक लाभों के बारे में ऊपर बताया गया है। गर्भवती महिलाएं इसका सेवन पनीर, स्मूदी या विभिन्न पके हुए पकवान के रूप में कर सकती हैं। हमेशा याद रखें कि इसका सेवन उचित मात्रा में ही करें, न ज्यादा और न ही कम। यदि आप इसका बहुत अधिक सेवन करते हैं, तो आपको एसिडिटी के कारण आपके पाचन तंत्र में कुछ समस्याएं हो सकती हैं। अपनी गर्भावस्था का आनंद लें और अपने शरीर को हमेशा स्वस्थ रखें। यदि आपको अन्य कोई परेशानी या गर्भावस्था के लिए डॉक्टर से सलाह लेना चाहते है तो आप हमारे website www.healthybazar.com पर visit कर सकते है ।

Last Updated: Sep 28, 2022

Related Articles

Pregnancy Care

गर्भवती महिलाओं के द्वारा की जाने वाली गलतियां !

Pregnancy Care

गर्भावस्था के शुरुआती लक्षण ।

Related Products

Dabur

Ashwagandha Churna

0 star
(0)

Dabur Ashwagandha Churna is very effective in treating insomnia.

₹ 82

Dabur

Brahmi Vati-D Gold

0 star
(0)

Dabur Brahmi Vati is a brain tonic that improves brain functioning and relieves stress.

₹ 390

Dabur

Honitus Tab

0 star
(0)

Dabur Honitus Tablet is an Ayurvedic remedy that relieves cough and sore throat.

₹ 90