search

Published 15-11-2022

पेट की सभी समस्याओं का घरेलू उपाय !

STOMACH, STOMACH ACHE, POOR APPETITE, ACIDITY/GAS, CONSTIPATION, DIARRHEA/DYSENTERY

पेट की सभी समस्याओं का घरेलू उपाय !

Dr. Shivani Nautiyal

An Ayurvedic Practitioner and Consultant with a specialization in Panchkarma. My goal is to design an individual treatment plan to help each patient to achieve the best outcome possible. Treats Male and Female Fertility problems, Irregular Menstruation, Leucorrhea, UTI, COPD, Diabetes, Hypertension, Insomnia, Joint Pain, Arthritis, Sciatica, Skin problems, Alopecia, Grey Hairs, Gastric problems and other Lifestyle Disorders with Panchkarma Therapies and Ayurvedic Medicines.

आयुर्वेद अग्नि को जीवन और समस्त सृष्टि के स्रोत के रूप में देखता है। जठराग्नि (Digestive Fire), आयुर्वेद में दिया गया नाम है, जो शरीर में भोजन के चयापचय(metabolism) या पाचन के लिए जिम्मेदार है। ऐसा कहा जाता है कि यह निचले पेट, ग्रहणी(duodenum), छोटी आंत और अग्न्याशय(pancreas) में स्थित होता है  

जठर (Gastric) में स्थित अग्नि यानी पेट और ग्रहणी की बायोएनेर्जी आयुर्वेद में वर्णित 13 अग्नि में से एक है। हम जो आहार लेते हैं वह सार (शरीर के ऊतकों को पोषण के लिए आवश्यक पोषक तत्व) और किट्टा (अपशिष्ट उत्पाद) में बदल दिया जाता है। हमारे जठराग्नि की शक्ति हमारे पाचन तंत्र के स्वास्थ्य को निर्धारित करती है। अच्छे स्वास्थ्य के लिए, हमें एक समाग्नि या सामान्य जठराग्नि की आवश्यकता होती है

भोजन जो आप खाते हैं वह शरीर को पोषण देता है और मजबूत करता है और इस जठराग्नि को और अधिक प्रभावी बना सकता है और आपके चयापचय और पाचन तंत्र को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है। और साथ ही, जब आप जो खाना खाते हैं वह सही नहीं होता है, तो यह आपके पेट में जठराग्नि का असंतुलन पैदा कर सकता है और आपके सिस्टम को कमजोर कर सकता है और अंदर की अग्नि को बुझा सकता है। 

आयुर्वेद अग्नि के इस संतुलन का उपयोग पेट की विभिन्न बीमारियों जैसे अपच, सूजन, एसिड रिफ्लक्स, कब्ज या दस्त के उपचार के लिए करता है। पेट दर्द के लिए आयुर्वेदिक दवा आपकी रसोई में साधारण चीजों का उपयोग करती है, और पेट की लगभग सभी बीमारियों का समाधान प्रदान करती है। 

पेट दर्द के इलाज के लिए 10 सर्वश्रेष्ठ आयुर्वेदिक दवाएँ। 

 

1. कब्ज

कब्ज के कारण होने वाले पेट दर्द के लिए सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवा घी, नमक और गर्म पानी के अलावा और कुछ नहीं है। 3 अवयवों को मिलाकर उपयोग करने के लिए एक पेय (Drink) बनाने की सलाह दी जाती है।

कब्ज का इलाज करने के लिए सर्वश्रेष्ठ आयुर्वेदिक दवाएँ 

घी एक शानदार लुब्रिकेंट है जो आंतों को आराम देता है और उन्हें चिकनाई देता है, जबकि नमक बैक्टीरिया को दूर करता है। घी में ब्यूटायरेट(butyrate) एसिड नामक रसायन होता है, जो एक फैटी एसिड होता है जिसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं।

रात के खाने के एक घंटे बाद पका हुआ केला खाने के बाद गर्म दूध और गर्म पानी की भाप लेने की सलाह दी जाती है। पेट दर्द और कब्ज के लिए सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवा अरंडी का तेल है, जो एक रेचक है जो सोते समय लेने पर अत्यधिक राहत प्रदान कर सकता है। हालांकि, गर्भवती महिलाओं और 12 वर्ष से कम उम्र के बच्चों और 60 वर्ष से अधिक उम्र के वयस्कों को अरंडी का तेल लेने की सलाह नहीं दी जाती है।

 

2. पेट फूलना

अगर आपको कभी भी पेट बहुत ज्यादा भरा हुआ महसूस होता है और पेट में दर्द है, पेट फूलने के कारण होने वाले पेट दर्द के लिए यह आयुर्वेदिक दवा है -

गर्म पानी में कुछ सौंफ मिला लेना घरेलू उपाय है जिसे आपको आजमाना चाहिए। साथ ही अदरक को गर्म पानी में मिलाकर लिया जाता है, और  1 चम्मच शहद भी उसमे मिलाकर सुबह जल्दी उठकर लेना एक अच्छा उपाय है। और खाने के बाद सौंफ को चबाने से पाचन प्रक्रिया में मदद मिलती है और आपके पेट की सारी गैस कम हो जाती है और, दर्द और सूजन कम हो जाती है। इसके अलावा पुदीने की चाय भी पेट दर्द और सूजन के लिए एक प्रभावी आयुर्वेदिक उपाय है। 

 

3. एसिड रिफ्लक्स

पेट में गंभीर अल्सर या जलन और पेट में दर्द के साथ अत्यधिक मिचली हुई है? पेट में जलन के लिए यह आयुर्वेदिक उपाय आपको एसिड रिफ्लक्स ठीक करने में मदद करेगा और आपके पेट को जल्द से जल्द शांत करेगा। कुछ भी जो आपके मुंह के अंदर लार के स्तर को वृद्धि की ओर ले जाता है, पेट की अम्लता को संतुलित करने में मदद करेगा। 

  • सौंफ के बीज चबाएं।
  • तुलसी (तुलसी) के पत्ते चबाएं।
  • कुछ लौंग मुंह में दबा लें।

पेट में जलन के लिए एक और आयुर्वेदिक उपाय ताजा नारियल पानी, या नारियल के टुकड़े, और सादा दही को मिलाकर बनाई गई छाछ पाचन में सहायता करने, और जलन को कम करने में मदद करती है।

 

4. अतिसार

दस्त के कारण होने वाले पेट दर्द के लिए लौकी एक बेहतरीन आयुर्वेदिक उपाय है। इसे सूप, टमाटर और मटर से बनी ग्रेवी या स्टू बनाने से दस्त में राहत मिलती है। लौकी में फाइबर और पानी की मात्रा बहुत अधिक होती है और यह कैलोरी में कम और पचाने में हल्की होती है।

अक्सर खुद को हाइड्रेट करना बेहद जरूरी होता है क्योंकि डायरिया आपके शरीर के सारे तरल पदार्थ को बाहर निकाल देता है। अदरक दस्त के कारण होने वाले पेट दर्द के लिए भी एक बेहतरीन आयुर्वेदिक औषधि है अदरक में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट आपके सिस्टम की पोषक तत्वों पूरी तरह से भर देते हैं।

 

5. अपच

पेट से किसी भी चीज को पचाने की कठिन प्रक्रिया से छुटकारा पाने के लिए डेयरी उत्पादों और अनाज या कच्ची सब्जियों से परहेज करना जरूरी है। 

अपने भोजन में मसाले जैसे अदरक, दालचीनी, काली मिर्च, आदि शामिल करें और पकी हुई सब्जियाँ लें जो उबाल कर या भाप में पकाई जाती हैं - जैसे सूप व्यंजन या तरल व्यंजन खाने से अपच में मदद मिलती है।

प्याज का रस और शहद मिलाकर बनाया गया पेय या एक चौथाई चम्मच लहसुन के पेस्ट के साथ छाछ से बना पेय अपच के कारण होने वाले पेट दर्द के लिए एक अद्भुत आयुर्वेदिक उपाय के रूप में कार्य करता है।

1/4 कप व्हीटग्रास(wheatgrass) के रस में 10-12 तुलसी के पत्तों के साथ कुछ लहसुन की कलियां मिलाकर अपच में मदद मिलती है। 

पेट दर्द के लिए इन आयुर्वेदिक दवाओं का पालन करने और इन युक्तियों का अभ्यास करने से आपको पेट के सभी दर्द और समस्याओं से छुटकारा मिल जाएगा |

आप हमारे एक्सपर्ट (expert) डॉक्टर्स से संपर्क कर सकते है www.healthybazar.com पर जाए और अपनी हर समस्या का समाधान नेचुरल (natural) तरीके और समस्या को जड़ से ख़तम करने का उपाए हमारे डॉक्टर्स से ले ।

Last Updated: Nov 21, 2022

Related Articles

Stomach Ache , Acidity/Gas , Stomach

पेट में गैस बनने से क्या परेशानी होती है?

Acidity/Gas , Stomach , Stomach Ache

पेट की परेशानी के घरेलू उपाय ।

Related Products

Patanjali

Cow Ghee

0 star
(0)

Patanjali Cow Ghee calms Pitta and Vata. Hence, it is ideal for people with Vata-Pitta body type and for those suffering from disorders related to Vata-Pitta imbalance.

₹ 120

Tikaram Naturals

Castor Oil (Arandi)

0 star
(0)

Nourish your every body part, from hair, eyebrows, eyelashes to nails, with this beauty regimen essential.

₹ 89

Tikaram Naturals

Coconut Oil

0 star
(0)

Get healthy skin, shiny hair, and good cholesterol with optimum consumption of this coconut oil.

₹ 360