search

Published 07-11-2022

पेट में सूजन का आयुर्वेदिक इलाज, उपचार और दवा

STOMACH

 पेट में सूजन का आयुर्वेदिक इलाज, उपचार और दवा

Dr. Shivani Nautiyal

An Ayurvedic Practitioner and Consultant with a specialization in Panchkarma. My goal is to design an individual treatment plan to help each patient to achieve the best outcome possible. Treats Male and Female Fertility problems, Irregular Menstruation, Leucorrhea, UTI, COPD, Diabetes, Hypertension, Insomnia, Joint Pain, Arthritis, Sciatica, Skin problems, Alopecia, Grey Hairs, Gastric problems and other Lifestyle Disorders with Panchkarma Therapies and Ayurvedic Medicines.

आयुर्वेद के अनुसार, आपका पूरा स्वास्थ्य इस बात पर निर्भर करता है कि आप प्रकृति से ली गई चीजों को या अपने भोजन को कैसे पचाते हैं। आयुर्वेद भी जठर अग्नि को मजबूत करने पर जोर देता है जो शरीर में स्वस्थ ऊतकों (Healthy Tissue) के निर्माण में सहायता करता है और पाचन तंत्र से अपशिष्ट पदार्थ (Waste Products) को बाहर निकालने में भी मदद करता है। एक कमजोर पाचन तंत्र आपको फूला हुआ पेट, गैस, अपच, अम्लता, और अनियमित मल त्याग की समस्या की ओर ले जाता है। नतीजतन, आप दिन भर भारी महसूस करते हैं। अस्वास्थ्यकर(unhealthy) पाचन तंत्र भी शरीर में विषाक्त पदार्थों का भंडार बन जाता है जो अंततः बहुत सारी स्वास्थ्य समस्याओं का मूल कारण बन जाता है। यदि पाचन तंत्र को बेहतर बनाने का सवाल अक्सर आपको परेशान करता है, तो यह जानने के लिए आगे पढ़ें कि कैसे आयुर्वेदिक जीवनशैली और आदतों को अपनाने से आप पाचन में सुधार कर सकते हैं और इससे संबंधित समस्याओं को दूर रख सकते हैं।

पाचन शक्ति में सुधार कैसे करें?

कमजोर पाचन तंत्र के कारण अग्नि कमजोर हो जाती है। पाचन में सुधार और पाचन अग्नि को मजबूत रखने के लिए, आयुर्वेद कुछ उपाय सुझाता है जिन्हें आप आसानी से आप अपनी दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं, जो बदले में आपको वजन घटाने में मदद करेंगे, और आपके चयापचय(metabolism) में सुधार करेंगे, मल त्याग को नियमित करेंगे और आपको एक निश्चित उत्तर खोजने में भी मदद करेंगे। 'पाचन तंत्र को स्वाभाविक रूप से कैसे सुधारें' इसके कुछ तरीके यहाँ दिए गए है  -

ध्यान - 

अध्ययनों से पता चलता है कि रोजाना काफी समय तक ध्यान करना आपके शरीर को सकारात्मक तरीके से प्रभावित कर सकता है और पाचन शक्ति में सुधार करने में मदद कर सकता है। यह शरीर के होमियोस्टैसिस (homeostasis) को बहाल करने में मदद करता है जो बदले में पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में मदद करता है। हर दिन सुबह और शाम 20-30 मिनट के लिए ध्यान करने से शरीर गति में आ सकता है और अधिकतम लाभ प्राप्त कर सकता है।

व्यायाम या योग -

कुछ शारीरिक गतिविधि जैसे योग या किसी अन्य प्रकार के शारीरिक व्यायाम में शामिल हों। अपने दिन की शुरुआत योग से करें, दौड़ें या पैदल चलें, इससे न केवल आप पूरे दिन ऊर्जावान महसूस करेंगे बल्कि आपका पाचन तंत्र भी स्वस्थ और सक्रिय रहेगा। इसके अलावा, प्रत्येक भोजन के बाद 15-20 मिनट की छोटी सैर भोजन को सिस्टम में खाने को आसानी से और ठीक से पचने में मदद करेगी। यदि आप मधुमेह रोगी हैं, तो कुछ भी खाने के बाद रक्त शर्करा के स्तर में होने वाले उतार-चढ़ाव को नियंत्रित करने के लिए सैर और योग मदद करते हैं।

अधिक भोजन न करें -

यदि प्रश्न, पाचन तंत्र को कैसे सुधारा जाए, आपको लगातार परेशान करता है, तो इसका उत्तर आपके खाने की आदतों को नियंत्रित करने में है। जब आप अधिक खाते हैं, तो आपका शरीर और पाचन तंत्र खराब हो जाता है। भोजन का ठीक से टूटना और पचना भी मुश्किल हो जाता है। इससे अपच, बेचैनी और एसिडिटी की समस्या होने लगती है। पाचन तंत्र को बेहतर बनाने के लिए जरूरी है कि संयम से खाएं और ज्यादा मात्रा में न खाएं। आयुर्वेद पेट में कुछ खाली जगह छोड़ने की सलाह देता है क्योंकि यह भोजन को आसानी से पचने में मदद करता है।

पाचन तंत्र को बेहतर बनाने के लिए पिएं हर्बल टी - 

दिन भर हर्बल या अदरक की चाय पीने से भोजन का प्रभावी पाचन होता है और पाचन में सुधार होता है। अदरक आयुर्वेद में एक बहुत अच्छा उपाय है और कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करने के लिए जाना जाता है। यह आंतों की मांसपेशियों को आराम देने में मदद करता है, जिससे आपको गैस, एसिडिटी या अपच के लक्षणों से राहत मिलती है। इस साधारण चाय से पाचन को प्राकृतिक रूप से सुधारने की समस्या का मुकाबला करें|

दोपहर का भोजन भरपेट करें -

पाचन तंत्र को प्राकृतिक रूप से कैसे सुधारें? एक अच्छा लंच खाना शुरू करें। आयुर्वेद के अनुसार, शरीर दोपहर के भोजन को पचाने के लिए सबसे अच्छी तरह से सक्षम होता है। पाचन तंत्र दिन के समय में अधिकतम मात्रा में पाचक रसों का स्राव करता है और इसलिए दोपहर के भोजन में भरपेट भोजन करने की सलाह दी जाती है। शाम या रात के खाने के समय ऐसा करने से पेट पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है क्योंकि पाचन अग्नि सबसे कमजोर होती है और शरीर को भोजन पचाने का समय ही नहीं मिल पाता है।

 Also Read - पेट में गैस बनने से क्या परेशानी होती है?  

नियमित रूप से करें डिटॉक्स -

जब पाचन में सुधार करने के प्रश्न की बात आती है, तो डीटॉक्स एक अच्छी उपाए है  समय-समय पर पेट और आंत की सफाई भी अग्नि को फिर से जगाने और ऊतकों को फिर से जीवंत और मरम्मत करने में सहायता करती है। डीटॉक्स शरीर से हानिकारक विषाक्त पदार्थोंं को बाहर निकालने का एक प्राकृतिक तरीका है, जिसका शरीर में संचय अक्सर अवरुद्ध आंतों, अनियमित मल त्याग और धीमी और निष्क्रिय पाचन तंत्र का कारण बन जाता है। सप्ताह में एक बार केवल साधारण फलों का रस आहार के रूप में लेना चाहिए, और जो लोग भोजन छोड़ने में विश्वास नहीं करते हैं, वे एक मोनो आहार (Mini meal) का विकल्प चुन सकते है, जहां आप अपने सामान्य भोजन का सेवन शुरू करने से पहले आधे दिन के लिए ताजे फलों का रस या डिटॉक्सिफाइंग पानी पी सकते हैं।

 जब पाचन में सुधार करने के मुद्देे की बात आती है, तो कई अन्य चीजें हैं जो आप अपने पाचन तंत्र को उत्तेजित करने और शरीर से विषाक्त पदार्थों को खत्म करने के लिए कर सकते हैं। शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने के तरीके के बारे में और पढ़ें। येह आर्टिकल आपको ये जानने में मदद करेगा की आपके पाचन तंत्र के लिए सबसे अच्छा क्या काम करता है और फिर उसके अनुसार आपको अपने डाइट और लाइफस्टाइल में बदलाव करने चाहिए अधिक जानकारी के लिए हमारे डॉक्टर्स से सलाह ले। यदि आप डॉक्टर से सलाह लेना चाहते है तो आप हमारे website www.healthybazar.com पर visit कर सकते है ।

Last Updated: Nov 9, 2022

Related Articles

Stomach Ache , Acidity/Gas , Stomach

पेट में गैस बनने से क्या परेशानी होती है?

Constipation

पेट में कब्ज होने से कौन सी बीमारी होती है ?

Acidity/Gas , Stomach , Stomach Ache

पेट की परेशानी के घरेलू उपाय ।

Stomach , Stomach Ache

पेट में सूजन हो तो कैसे पता चलता है?

Related Products

Himalaya

Gasex

0 star
(0)

Himalaya Gasex improves digestion and reduces gaseous detention.

₹ 117

Herbal Canada

No Acidity Tablets

0 star
(0)

Herbal Canada No Acidity Tablets helps to treat indigestion and gas.

₹ 183

Dabur

Hajmola Pudina Pouch

0 star
(0)

Dabur Hajmola Pudina is a panacea of digestive problems. It is used to get rid of acidity, flatulence, indigestion, and other digestive system problems.

₹ 152